प्रशिक्षण

मुख्य पृष्ठ  »  हमारे बारे में  »  प्रशिक्षण

1. परिचय

प्रशिक्षण ही वह विधा है जो व्यक्ति को कोई भी कार्य करने में पारंगत बनाती है, विशेषकर उन परिस्थितियों से निपटने के लिए जो हमारी दिन-प्रतिदिन की प्रक्रिया से हटकर हों| कुम्भ का आयोजन विश्व में धार्मिक रूप से होने वाला विशालतम सांस्कृतिक आयोजन है जिसमें देश विदेश से आए लाखों श्रद्धालु सम्मिलित होते हैं| इतनी बड़ी जनसंख्या के सुचारु प्रबंधन के लिए प्रशिक्षण अति आवश्यक है| इसी उद्देश्य से कुम्भ पुलिस को विशेष रूप से प्रशिक्षित किया गया है| जल पुलिस, महिला पुलिस, अग्निशमन दल एवं अन्य बलों एवं विभिन्न इकाइयों को पर्याप्त प्रशिक्षण दिया गया है, जिससे वे कुम्भ मेले के दौरान श्रद्धालुओं की हर मोड़ पर सहायता कर सकें एवं साथ ही किसी भी अप्रिय घटना को यथाशीघ्र निष्प्रभावी बना सकें | प्रशिक्षण के दौरान इस बात पर भी बल दिया गया है कि पुलिस कर्मी श्रद्धालुओं के साथ मैत्रीभाव का आचरण स्थापित करें | मेला क्षेत्र में नियुक्त अन्य विभागों के साथ सामंजस्य बनाए रखने हेतु भी पुलिस बल को विशेष प्रशिक्षण प्रदान किया गया है ताकि किसी भी अप्रिय घटना को समन्वयपूर्वक तुरंत रोका जा सके | प्रशिक्षण के दौरान सभी इकाइयों के पुलिस कर्मियों को मेला क्षेत्र एवं आसपास के क्षेत्र की भौगोलिक जानकारी भी प्रदान की गई जिससे समस्त कर्मी श्रद्धालुओं को मेला क्षेत्र की अवस्थिति बता सकें। इसके अतिरिक्त कुम्भ 2019 में तैनात किए जा रहे समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों को मेले के दौरान उनके द्वारा प्रयोग की जाने वाली तकनीक का प्रशिक्षण भी प्रदान किया गया है।

2. प्रशिक्षण का आयोजन तीन चरणों में किया गया है:

  • प्रथम चरण में आए पुलिस बल को 21 दिवस का प्रशिक्षण दिया गया है।
  • द्वितीय चरण में आए पुलिस बल को 14 दिवस का प्रशिक्षण दिया गया है।
  • तृतीय चरण में आए पुलिस बल को 7 दिवस का प्रशिक्षण  दिया गया है।

हेल्पलाइन नम्बर :100